Programming Languages क्या है ? Types Of Programming Language

3
programming languages kya hai-types of programming languages in hindi

Programming Languages क्या होती है, What Is Programming Languages Definition in Hindi, Computer languages क्या होती है दोस्तों अगर आप इंटरनेट पर कोई वर्क करते है या आप अपना खुदका एप्प या गेम बनाने के बारे में सोचते है तो उसमे प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज का नाम आ ही जाता है बहुत से लोग सोचते है की ये क्या होती है और कितने प्रकार की होती है.

और प्रोग्रामिंग या Computer languages को कैसे सीख सकते है अगर आपने मन में भी यही सभी questions है तो आपके सभी Questions का answer इस पोस्ट में आपको मिल जायेगा इसलिए पूरी पोस्ट रीड करे. कंप्यूटर एक एलेक्ट्रॉनिके मशीन होती है

जो आपकी भाषा को नहीं समझ सकती है जैसा की आपको पता ही होगा की इंसान भी अलग अलग तरह की languages बोलते है जैसे hindi, english, punjabi, marathi, gujrati, bangali etc तो इसी तरह कंप्यूटर ही भी अपनी अलग अलग languages  होते है

जिन्हे programming languages कहा जाता है  जैसा की आपको पता हो होगा की इन्सान से जब किसी कार्य को करवाया जाता है तो उसे उस कार्य से सम्बन्धित निर्देश देने होते है की क्या कार्य करना है या उसे किस तरह करना है इन सभी के बारे में उसको बताया जाता है

लेकिन इंसान तो सालो से एक दूसरे को अपनी भावनाओ को बताने के लिए भाषा का उपयोग करते है और अपनी भाषा में बात चीत करते है जिससे वो एक दूसरे को  आसानी से समझ सकते है की की कोई पर्सन उनसे क्या कहना चाह रहा है लेकिन कंप्यूटर एक मशीन है

जो इंसान की भाषा को नहीं समझ सकती है जैसे उदाहरण के लिए आप अगर किसी व्यक्ति से कहते है की वो खिड़की को बंद करदे तो उस व्यक्ति को तो आपकी बात समझ आ जाएगी और वो खिड़की को बंद भी कर देगा

लेकिन ऐसा ही आप कंप्यूटर को कहेंगे कि तुम बंद हो जाओ तो कंप्यूटर आपकी बात सुनकर बंद नहीं होगा क्योंकि वो इंसान नहीं है वो मशीन है और न ही वो आपकी भाषा को समझ पायेगा आपको अगर कंप्यूटर को बंद करना है

तो आपको कीबोर्ड से alt + F4 key या फिर shutdown key दबानी होगी तभी आपका कंप्यूटर बंद होगा क्योंकि जब आप इन keys को press करोगे तो उसको instruction मिलेगा कि उसे क्या करना है इसी तरह कंप्यूटर तो इंसान की भाषा को नहीं समझ सकता है लेकिन आप अगर कंप्यूटर भाषा को सीखना चाहते है तो सीख सकते है

और आप कंप्यूटर को को Instruction देना चाहते है तो Command द्वारा दे सकते है और command लिखने के लिए आपको programming languages यानि coding का उपयोग करना होता है programming languages भी अलग अलग तरह के जैसे c++, java, python, html, JavaScript etc होते है

Programming Languages क्या है ? What Is Programming Languages In Hindi

Programming languages जिसे coding भी कहते है Computer language होती है जिससे Computer से communicate  करने के लिए यूज़ किया जाता है. साधारण सी बात है की Computer हमारी languages  हिंदी इंग्लिश को कभी नहीं समझ सकता है

क्योंकि ये एक मशीन है जो सोच और समझ नहीं सकता है programming language कंप्यूटर की भाषा होती है जिसका उपयोग सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम बनाने के लिए किया जाता है जैसा की आपको पता ही होगा कि कंप्यूटर में अलग अलग तरह के सॉफ्टवेयर होते है जिनको बनाने के लिए अलग अलग तरह की Programming Languages का इस्तेमाल होता है जैसा कि दोस्तों मैंने बताया कि कंप्यूटर एक मशीन है जो हमारी भाषा को नहीं समझ सकता है

इसलिए हमे अगर इससे किसी भी कार्य को करना है तो इसको उसी भाषा में Instruction देना होता है जैसे कंप्यूटर से कोई काम करवाना है तो उसे कमांड देना होता है. ये कमांड आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में लिखनी होगी

इसी तरह अगर हमे कोई सॉफ्टवेयर डेवेलोप करना है तो उसके लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज का यूज़ किया जाता है. Programming Languages का यूज़ करके ही कंप्यूटर प्रोग्राम बनाये जाते है.

Types of Programming Languages in Hindi

Programming Languages 2 टाइप्स (प्रकार की होती है

1. Low Level Language 

लो लेवल लैंग्वेज ऐसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज होती है जो 0 एंड 1 (बाइनरी) कोड को समझती है आपने कंप्यूटर में देखा होगा बहुत से प्रोग्राम्स में 0 से 1 की कोडन ही मिलती है ये प्रोग्राम यानी सॉफ्टवेयर लो लेवल लैंग्वेज में बनाये जाते है low level   language भी 2 टाइप्स की होती है

1. Machine Level Language 

जैसा की नाम से ही पता चल रहा है की ये इसी लैंग्वेज होती है जिससे मशीन समझ सकती है. आप इस लैंग्वेज में कोडन करते है तो बिना किसी ट्रांसलेटर प्रोग्राम के मशीन यानी कंप्यूटर को समझा सकते है की आपको किस तरह का सॉफ्टवेयर डेवेलोप करना है.

इससमे ओनली 0 एंड 1 के अकॉर्डिंग कोडन की जाती है और इससमे पर्स और नो पर्स में कोडन की जाती है ये फर्स्ट जनरेशन में डेवेलोप हुई थी इस्सलिये इससे फर्स्ट जनरेशन प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज भी बोलते है.

मशीन लेवल लैंग्वेजेज बहुत टफ होती है और इससे लर्न करना बहुत डिफिकल्ट है but अगर आप िस्सको सीख जाते है तो आप इससे जो प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर डेवलप करेंगे वो बहुत फ़ास्ट होगा एंड फास्ट रन होगा.

Assembly Level Language

असेंबली भी लो लेवल लैंग्वेज है जिस्मे भी 0 से 1 कोड ही उसे किये जाते है बूत इन्हीं के साथ में इससमे स्पेशल सिंबल का उसे भी किया जाता है. मशीन लेवल लगॉगे समझना बहुत डिफिकल्ट है इस्सलिये उसको समझने में थोड़ी आसानी हो इस्सलिये असेंबली को बनाया गया

इससमे 0 से 1 के साथ में सिंबल उसे किये जाते है. बूत कंप्यूटर तो ओनली 0 से 1 नंबर को ही समझ सकता है इस्सलिये सिंबल को भी 0 से 1 नंबर में कन्वर्ट करने के लिए इससमे ट्रांसलेटर प्रोग्राम का यूज़ किया जाता है जिससे असेम्बलर बोलते है.

असेंबली लैंग्वेज का बेनिफिट है ये की इससमे स्पेशल सिंबल भी होते है तो इसे समझना थोड़ा इजी हो जाता है बूत इससमे ट्रांसलेटर प्रोग्राम का उसे भी किया जाता है इस्सलिये इससे डेवेलोप किये प्रोग्राम जाएदा फ़ास्ट नहीं रन होंगे..

2. High Level Language

ये हमारी नेचुरल लैंग्वेज की सिमिलर होती है. दोस्तों सबसे पहले programming languages की स्टार्टिंग मशीन लेवल  लैंग्वेज से हुईजो समझने में बहुत डिफिकल्ट थिस फिर उससे आसान बनाने के लिए असेंबली बनायीं गयी फिर भी सभी लोगो के लिए िस्सको को समझना भी बहुत डिफिकल्ट था इस्सलिये हाई लैंग्वेज बनायीं गयी.

जो समझने में आसान होती है लेकिन अब बात आती कि कंप्यूटर तो सिर्फ बाइनरी लैंग्वेज ( 0,1) को ही समझ सकता है तो वो हाई लेवल लैंग्वेज को कैसे अंडरस्टुड करेगा तो इस्सके लिए एक प्रोग्राम उसे किया जाता है

यानि हाई लेवल लैंग्वेज को बाइनरी में कन्वर्ट करने के लिए कइलेर प्रोग्राम रहता है जो िस्सको मशीन लगॉगे में कन्वर्ट करता है. सबसे पहली जो हाई लेवल लैंग्वेजेज आई थी पाइथन उसस्के बाद स लैंग्वेज आई जो की बहुत ही पॉपुलर है. और इस्सके बाद अभी 1000+ हाई लेवल  प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज है जिनमे Java , php, sql, c++, JavaScript , html etc शामिल है.

Dosto programming languages क्या होती ह what is programming languages आप सीख ही गये होंगे अब आपको अगर सभी हाई लेवल प्रोग्रामिंग जैसे html JavaScript php java c++ etcके बारे में जानना है तो ये में आपको अपनी अगली पोस्ट में बाटूंगा आप उस पोस्ट की नोटिफिकेशन अपने ईमेल पर पाना चाहते है तो हमारी साइट को सब्सक्राइब कर सकते है.  

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here